भाजपा के वरिष्ठ नेता और युवा नेताओं से उपेक्षित पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह अवसाद में है-कांग्रेस गोधन न्याय योजना की तारीफ आरएसएस ने की जिसकी तिलमिलाहट डॉ रमन सिंह के बयान में दिख रही है

रायपुर/21 जुलाई 2020। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह द्वारा दिए गए बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि 15 सालों से कमीशन खोरी और भ्रष्टाचार से तंग आकर प्रदेश की जनता ने डॉ रमन सिंह के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी को 14 सीटों पर ही सिमटा दिया और दो उपचुनाव विधानसभा के भी उनके ही नेतृत्व में भाजपा को पराजय का सामना करना पड़ा। उसके बाद नगर निगम, नगर पालिका और पंचायत के चुनाव में भी भाजपा का सूपड़ा साफ हुआ वो भी डॉ रमन सिंह के चेहरे पर उसके बावजूद पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह आत्ममुग्ध है। लगातार अपने ही पार्टी के लोगों पर दबाव डालकर अपने को सर्वोच्च नेता साबित करने में आमादा है ताकि आगामी चुनाव भी उनके ही नेतृत्व में लड़ा जाये।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि कोरोना महामारी के कठिन समय में कांग्रेस की सरकार के जनहितैषी कार्यो का प्रतिपादन और केंद्र सरकार द्वारा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कार्यो को सराहना मिलता देख पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह बुरी तरह से तिलमिला उठे हैं। उन्हें उनकी ही पार्टी के प्रदेश इकाई के वरिष्ठ नेताओं का समर्थन नहीं मिल रहा है और लगातार युवा कार्यकर्ताओ द्वारा रोजाना सोशल मीडिया में उनके नेतृत्व पर सवाल खड़ा किया जाता है। बावजूद इसके डॉ रमन सिंह छत्तीसगढ़ के हितैषी कांग्रेस सरकार और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर तंज कस के अपना राजनीति चमकाना चाहते हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में किसानों का 11 हजार करोड़ का कर्जा माफ हुआ, 2500 रु धान का समर्थन मूल्य दिया गया, 400 यूनिट बिजली में 50 प्रतिशत की छूट जारी है, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में बस्तर के किसानों को 4000 एकड़ से अधिक की जमीन आदिवासियों और किसानों को वापस कर दी गई जिसे भाजपा सरकार ने हड़प कर रखा था। वन उपज मूल्य 2500 रु. से बढ़ाकर 4000 रु. कर दिया गया और अब गोधन न्याय योजना जब अपने प्रारंभिक चरण पर है जिसकी तारीफ खुद भाजपा के पितृ संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने किया। इससे पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह तिलमिला उठे हैं उनकी रात की नींद उड़ी हुई है और लगातार भाजपा के वरिष्ठ नेता और युवा नेताओं की अवहेलना उन से बर्दाश्त नहीं हो रही है इसलिए वे रोजाना केवल और केवल कागजी बयान बाजी कर रहे हैं।

Back to top button