मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रोका छेका के पद्धति को प्रभावी ढंग से लागू कर किसानों के साथ 24 घण्टा 7 दिनों मजबूती के साथ खड़ा होने का संदेश दिया

रायपुर /19 जून 2020/मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के द्वारा रोका छेका पद्धति को प्रभावी ढंग से लागू किए जाने का कांग्रेस ने स्वागत करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार किसानों के प्रति संवेदनशील है।24 घंटा सातों दिन किसानों के साथ है।रोका छेका को प्रभावी ढंग से लागू कर सरकार ने किसानों के फसल को सिर्फ पशुओं से बचाने का नहीं बल्कि किसानों के अच्छी पैदावार पर पड़ने वाले प्राकृतिक एवं अप्राकृतिक आपदा की काली छाया के समय भी मजबूती के साथ खड़ा होने का संदेश दिया है।किसान किसानी के वक्त हमेशा इस बात को लेकर चिंतित रहते हैं कि अगर बारिश कम ज्यादा हुई तो फसल खराब हो जाएगी।धोखे से नकली बीज खाद खरीदी के कारण उनका सीजन खराब ना हो।पशुओ के द्वारा फसल चरने के खतरा। इन तमाम चिंताओं से किसानों को बेफिक्र होकर अच्छी पैदावार करने जुट जाने का बड़ा संदेश सरकार ने दिया है ।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि बीते 15 साल से छत्तीसगढ़ के किसान सरकार से जिस प्रकार से संरक्षण सुविधा सुरक्षा की उम्मीद किए थे उस उम्मीद को पूर्व की रमन सरकार ने पूरा नहीं किया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने किसानों की कर्ज माफी, धान की कीमत 2500 रु, सिंचाई शुल्क माफ, बिजली बिल हाफ,नरवा गरवा घुरवा बाड़ी योजना के माध्यम से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने पशुधन की नस्ल सुधारने जल स्रोतों का संरक्षण करने जैविक खाद बनाने सहित अनेक कृषि कल्याणकारी कार्यों को शुरू कर किसानों के उम्मीद को पूरा करने का काम किया। पूर्व के रमन सरकार के दौरान फसल नुकसान होने कर्ज में दबे होने के कारण निरंतर किसानों की आत्महत्या की घटनाएं बढ़ी थी ।

किसान कर्ज छूटने गृहलक्ष्मी के जेवर मंगलसूत्र खेत खलिहानों को बेचने मजबूर थे। परंपरागत कृषि कार्यों से जुड़े लोग कृषि कार्यों से दूर हो रहे थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने कृषि कार्य को लाभकारी बनाकर परंपरागत ग्रामीण अर्थव्यवस्था को एक नई दिशा और रोजगार के अवसर देने का काम किया है। बीते 18 महीने में किसान अब खेत खलिहान बेच नहीं रहे हैं बल्कि उन्नतशील कृषि यंत्र ट्रैक्टर एवं गृह लक्ष्मी के लिए जेवर खरीद रहे हैं पशुधन के लालन-पालन कर रहे हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button