शैक्षनिक व आवासीय शुल्क को लेकर छात्रों के ऊपर दबाव ना बनाय जाए-ABVP

अभाविप ने शुल्क के दबाव बनाए जाने को लेकर मोर्चा खोल दिया है आज अभाविप ने रायपुर कलेक्टर व चारों शाश्किय विश्विद्यालय(रविवि,केटियु,आयुष,igkv) में ज्ञापन सौंपा अभवीप ने कहा की वेश्विक कोरोना महामारी के चलते सम्पूर्ण देश में दो माह से अधिक समय तक लोकडाउन लागू रहा।

इस लोकडाउन के चलते छोटे व्यापारी अनियमित(आशासकिय) कर्मचारियों के रोजगार अत्यधिक प्रभावित हुए है,इस कारण कई परिवारों की आर्थिक स्तिथि बिगड़ी है व उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।विश्विद्यालय द्वारा परीक्षा शुल्क,आवासीय शुल्क,शैक्षनिक शुल्क के लिए दबाव ना डाला जाए क्यूँकि इसे लेकर ऐसे विद्यार्थी चिंतित है जिनके परिवार के पास आय का सीमित साधन है।इस विषय को लेकाए कई विद्यार्थियों ने विद्यार्थी परिषद से दूरभाष द्वारा सम्पर्क कर अपनी व्यथा बताई,अधिकांश विद्यार्थियों ऐसे है जिनके परिवार में लोकडाउन के कारण विगत तीन माह से आय का कोई ज़रिया नहीं है जिसके चलते व शलकक जमा करने में असमर्थ है।ज्ञापन सौंपने वालों में महानगर मंत्री विभोर सिंह ठाकुर,अखिलेश त्रिपाठी,अमन ठाकुर,ऋषभ दुबे,मुकुल वर्मा,तिलक नाथ,शानू सिंह,सूर्यप्रकाश,आशीष साहू,उपस्तिथ थे।


अभाविप आपसे माँग करती है की-
(1) जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं उनकी फीस माफ की जाए।
(2) विद्यार्थियों ने हॉस्टल की किसी भी सुविधा का लाभ नहीं लिया, अतः भोजन और आवासीय शुल्क माफ किया जाय।
(3) जो विद्यार्थी रूम लेकर रह रहा है उनकी फीस में 50% संशोधन किया जाए।
(4) हॉस्टल संचालकों द्वारा छात्रों को किराया देने का का दबाव बनाया जा रहा है, उन्हें समझाइश दी जाए कि वह विद्यार्थी पर दबाव न बनाएं। वह जब भी हॉस्टल आयेगा। तब जमा कर देगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button