मौसम अलर्ट : तेजी से बदल रहा मौसम, इन हिस्सों में दस्तक देगा मानसून, 24 घंटे में मूसलाधार बारिश के आसार

रायपुर: दक्षिणपश्चिम मॉनसून मध्य अरब सागर, पूरे गोवा, कोंकण, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा के कुछ हिस्सों, कर्नाटक के बाकी हिस्सों, पूरे रायलसीमा और तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना के ज्यादातर हिस्सों, दक्षिण छत्तीसगढ़ और दक्षिण ओडिशा के कुछ इलाकों, पश्चिममध्य और उत्तर बंगाल की खाड़ी के कुछ और हिस्सों, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा, अरुणाचल प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों और असम व मेघालय के कुछ और हिस्सों में बढ़ गया है।

मॉनसून की उत्तरी सीमा (एनएलएम) अक्षांश 18 डिग्री उत्तर/देशांतर 60 डिग्री पूर्व, अक्षांश 18 डिग्री उत्तर/देशांतर 70 डिग्री पूर्व, हरनई, सोलापुर, रामागुंडम, जगदलपुर, गोपालपुर, अक्षांश 21 डिग्री उत्तर/देशांतर 89 डिग्री पूर्व, अगरतला, चपरमुख, तेजपुर और अक्षांश 28 डिग्री उत्तर और देशांतर 92 डिग्री पूर्व से होकर गुजर रही है। अगले 48 घंटों के दौरान दक्षिणपश्चिम मॉनसून के और आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हो रही हैं।

यह मध्य अरब सागर और महाराष्ट्र (मुंबई सहित); तेलंगाना के बाकी हिस्सों, पश्चिम मध्य और उत्तर बंगाल की खाड़ी, अरुणाचल प्रदेश और असम और मेघालय, पूरे सिक्किम, ओडिशा के कुछ और हिस्सों और पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में पहुंच सकता है।

दक्षिण छत्तीसगढ़ और पास के इलाके में चक्रवाती प्रवाह औसत समुद्र तल से 1.5 किमी ऊपर बना हुआ है। चक्रवाती परिसंचरण के रूप में पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी राजस्थान और पास के इलाके में औसत समुद्र तल से 0.9 किमी और 2.1 किमी के बीच बना हुआ है। उत्तरी राजस्थान के ऊपर बने उपरोक्त चक्रवाती परिसंचरण से ट्रफ (द्रोणिका) उत्तरी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और ओडिशा में औसत समुद्र तल से 0.9 किमी ऊपर चक्रवाती परिसंचरण के साथ कम दबाव का क्षेत्र बना

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button