BREAKING : भाजपा पर शैलेश नितिन त्रिवेदी ने किया पलटवार

रायपुर/18 जुलाई 2020। प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा को यह नहीं भूलना चाहिए कि प्रदेश में उनकी सरकार चली गई है। सियाराम साहू की नियुक्ति भाजपा शासन में हुई थी। उनका कार्यकाल पूरा हो चुका है। उन्होने पूछा है कि भाजपा की नजर में मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में अलग कानून है क्या? कमलनाथ सरकार द्वारा महिला आयोग की अध्यक्ष बनाई गई शोभा झा को जब शिवराज सिंह चौहान की सरकार में हटा दिया गया तो वह सही है और यहां पर भाजपा की रमन सिंह सरकार द्वारा नियुक्त अध्यक्ष सियाराम साहू का कार्यकाल पूरा होने के बाद उनकी नियुक्ति आगामी आदेश तक बढ़ाई गयी। उनके स्थान पर कांग्रेस की तीन चौथाई बहुमत से निर्वाचित सरकार ने अध्यक्ष पद पर नियुक्ति की है तो इस पर भाजपा राजनीति कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पूछा है कि अजय चंद्राकर बतायें कि 13 करोड़ की पीएम केयर फंड से केन्द्रीय मदद के अतिरिक्त केन्द्र सरकार ने अपने मद से कोरोना के लिये कितना और क्या काम किया? अजय चंद्राकर को प्रधानमंत्री से सवाल पूछना चाहिये कि छत्तीसगढ़ से जितना पैसा पीएम केयर फंड में गया, क्या उतना फंड भी केन्द्र ने छत्तीसगढ़ को दिया है?

भाजपा के दोहरे आचरण पर तीखी टिप्पणी करते हुये प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि जिस भाजपा की मध्यप्रदेश की सरकार ने हाल ही में नियुक्त की गयी प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष शोभा झा को पद से हटा दिया। एक संवैधानिक पद में उसी पार्टी के ओबीसी आयोग के अध्यक्ष जो अपना कार्यकाल पूरा कर चुके है और जिन्हें आगामी आदेश तक एक्टेंशन दिया गया था वो अपने पद से चिपके रहना चाहते है। भाजपा की नेताओं का बदलिप्ता का जीताजागता सबूत है। भाजपा की इस रवैये की, भाजपा की इस संविधान विरोधी रवैये की कड़ी शब्दों में निंदा करता हूं।

अजय चंद्राकर जी लगातार झूठ का सहारा लेकर छत्तीसगढ़ सरकार के अच्छे काम पर दाग लगाने की कोशिश कर रहे है, सफल नहीं होगे। 30 हजार करोड़ मांगा था करोना से लड़ने के लिये छत्तीसगढ़ सरकार ने। केन्द्र सरकार ने कितना दिया 13 करोड़ रू. पीएम केयर फंड से सिर्फ देने वाली केन्द्र सरकार की पार्टी भाजपा, राज्य की अच्छा काम करने वाली कांग्रेस सरकार पर सवाल उठाती है। किस मुंह से सवाल उठाते हैं अजय चंद्राकर, राज्य की सरकार ने 75 करोड़ रू. की राशि कोरोना से लड़ने के लिये जारी की, 33 करोड़ की राशि और जारी की जा रही है, लेकिन कोरोना से लड़ाई की लागत भी समझनी चाहिये एक हजार टेस्ट प्रतिदिन हो तो उसकी लागत 10 लाख रू. होती है। 30 करोड़ रू. प्रतिमाह सिर्फ एक हजार टेस्ट प्रतिदिन का खर्चा है। इतने बड़े खर्च राज्य सरकार अपने संसाधनों से उठा रही है। केन्द्र की भाजपा सरकार ने पीएम केयर के हाल ही के आंकड़े के मुताबिक 73800 करोड़ से अधिक के कलेक्शन में से छत्तीसगढ़ को सिर्फ 13 करोड़ की राशि दी। यह बड़े दुख की बात है कि अजय चंद्राकर जैसे नेता इस पर सवाल उठाते है।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने हरेली हमारा छत्तीसगढ़ का त्योहार है। इस हरेली से हम लोग गोधन न्याय योजना की शुरूआत करने जा रही है। प्रदेश का संगठन की बैठक हुई है। प्रदेश कार्यकारिणी की, जिला अध्यक्षों की। अब पूरे कांग्रेस संगठन के लोग, सारे कार्यकर्ता हर गोठान में, हर दईहान में, हर गांवों में हरेली का आयोजन से जुड़ेंगे। गोधन न्याय योजना की शुरूआत होगी। सबसे बढ़कर ईश्वर की ऐसी कृपा हुई है कि समय पर पानी बरसा है। रोपा-ब्यासी का काम हरेली के पहले निपटने की कगार पर है। इसे देखते हुये पूरे किसान वर्ग में खुशी का हर्ष का वातावरण है। राज्य सरकार जो मदद पहुंचायी है किसानों को कर्जमाफी किया, 2500 रू. दाम दिया है, राजीव गांधी किसान न्याय योजना की लाभ को पहुंचाया है। इन सारे कारणों से छत्तीसगढ़ में आज किसान खुशहाल है। हरेली की तैयारी में हर किसान जोर-शोर से जुटा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button