BREAKING NEWS : राजस्थान में पुजारी को जिंदा जलाने के मामले में परिजनों ने किया अंतिम संस्कार से इनकार, जानें क्या है विवाद

10 Oct 2020 / राजस्थान के करौली जिले में पुजारी बाबूलाल वैष्णव की हत्या का मामला बढ़ता ही जा रहा है। जानकारी मिल रही है कि पीड़ित परिवार ने अंतिम संस्कार करने से भी इनकार कर दिया है।

ALSO READ : नशा के विरूद्ध रायपुर पुलिस : थाना कोतवाली क्षेत्रांतर्गत बैरन बाजार स्थित पाॅलीटेक्निक कालेज पास , अवैध रूप से नशीली एम.डी.एम.ए. का व्यापार करने…

राजस्थान के करौली जिले में पुजारी बाबूलाल वैष्णव की हत्या का मामला बढ़ता ही जा रहा है। जानकारी मिल रही है कि पीड़ित परिवार ने अंतिम संस्कार करने से भी इनकार कर दिया है। पीड़ित परिवार ने सरकार के सामने दो मांगे रखी है। उनका कहना है कि ये मांगें पूरी की जाए, तभी अंतिम संस्कार किया जाएगा।

ALOS READ : छत्तीसगढ़ बड़ा सड़क हादसा : 4 की मौत : राहगीर को बचाते हुए खड़े ट्रक से जा भिड़ी कार, 4 लोगों की मौत,2 की…

50 लाख मुआवजा दे सरकार

पीड़ित परिवार ने सरकार के सामने मांग रखी है कि उन्हें सरकार 50 लाख का मुआवजा दे। इसके साथ ही परिवार के सदस्य को नौकरी देने की भी मांग पीड़ित परिवार ने सरकार के समक्ष रखी है। बात इतने पर ही खत्म नहीं हो जाती। पीड़ित परिवार ने कहा है कि आरोपियों पर जल्द से जल्द कार्रवाई हो। उनकी मदद करने वाले पटवारी और पुलिसवालों के खिलाफ भी सख्त एक्शन लिया जाए। तभी वो शव का अंतिम संस्कार करेंगे।

also read : 9 नाबालिग सहित 38 लड़कियों : नौकरी दिलाने के नाम पर चेन्नई ले जाई जा रही 9 नाबालिग सहित 38 लड़कियों को पुलिस ने…

सरकार ने कही ये बात

इस मामले में राज्य सरकार ने मुआवजे का ऐलान कर दिया है। सरकार ने कहा है कि पीड़ित परिवार को 10 लाख की रकम मुआवजे के तौर पर दी जाएगी। इसके अलावा परिवार के एक सदस्य को अनुबंध पर नौकरी भी दी जाएगी। सरकार ने कहा है कि इंदिरा आवास सहित अन्य सरकारी योजनाओं के लाभ भी पीड़ित परिवार को दिए जाएंगे। इसके बाद जानकारी मिल रही है कि पी़ड़ित परिवार शव का अंतिम संस्कार करने के लिए राजी हो गया है।

ALSO READ : रिश्ता हुआ शर्मसार : 3 नाबालिग चचेरे भाइयों ने 12 साल की लड़की से 5 माह तक किया दुष्कर्म

बता दें कि बुधवार को ही बाबूलाल को कुछ गुंडों ने पेट्रोल डालकर जलाकर मार दिया था। इसके बाद उन्हें बचाया नहीं जा सका। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। इस मामले में कैलाश मीणा नाम के शख्स को मुख्य आरोपी बनाया गया है।

ALSO READ : छत्तीसगढ़ बड़ी खबर : पेड़ से लटकता मिला 14 साल की लड़की का शव…परिजनों ने दुष्कर्म के बाद हत्या की जताई आशंका

ये था मामला

जानकारी मिल रही है कि बाबूलाल वैष्णव पुराने राधाकृष्ण मंदिर में पुजारी थे। इस मंदिर के लिए गांव वालों ने खेती की जमीन दान में दी थी। लेकिन कुछ लोग उस जमीन पर कब्जा करना चाहते थे। इस मामले में कैलाश मीणा के साथ-साथ शंकर, नमो, किशन और रामलखन का भी नाम सामने आ रहा है।

Related Articles

Back to top button