लड़की को 4KM तक घसीटा ….हम नशे में थे, लड़की कार में फंसी थी…’ कंझावला कांड के दो आरोपियों का पुलिस के सामने कबूलनामा

Dragged the girl for 4KM….we were drunk, the girl was trapped in the car…' confession of two accused in the Kanjhawala case before the police

देश की राजधानी दिल्ली में नए साल के जश्न के बीच 5 लड़कों ने एक लड़की को कार से 4 किलोमीटर तक घसीटा. इससे लड़की की दर्दनाक मौत हो गई. लड़की शनिवार-रविवार की दरमियानी रात स्कूटी से घर जा रही थी, उसी दौरान कार से उसका एक्सीडेंट हो गया.

इस मामले में पुलिस ने जो एफआईआर दर्ज की है, उसमें दो आरोपियों ने शराब पीने की बात कही है. पुलिस का कहना है कि दोनों आरोपियों का मेडिकल कराया गया था.

एफआईआर में हादसे का समय 2AM दर्ज है. इंडिया टुडे/आजतक का सीसीटीवी घटना से कुछ मिनट पहले का है. एफआईआर में कहा गया है कि किशन विहार पोस्ट पर 1:52 बजे स्कूटी दिखाई दी और इसके बाद 1:58 बजे कार भी नजर आई.

यह भी पढ़ें… लड़की को 4KM तक घसीटा …. लड़की की मौत : घर में इकलौती कमाने वाली थी राजधानी हादसे का शिकार लड़की, ऐसी है परिवार की हालत

एफआईआर में कहा गया है कि अभियुक्तों को पता था कि उन्होंने स्कूटी सवार लड़की का एक्सीडेंट किया है. इसके बाद उन्होंने मौके से भागने की कोशिश की. हादसे की सूचना के बाद जब पुलिस पहुंची तो वहां दुर्घटनाग्रस्त स्कूटी मिली. स्कूटी फ्रंट राइट साइड में डैमेज थी. मौके पर किसी के घायल होने के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली और न ही मौके पर कोई चश्मदीद मिला.

स्कूटी के पास एक काले रंग का जूता पड़ा था. इसके बाद मौके पर क्राइम टीम को बुलाया गया, जिसने निरीक्षण कर घटना को फोटोग्राफ कराए. इसके बाद पुलिस ने स्कूटी को कब्जे में लेकर उसकी ऑनरशिप के बारे में पता किया, इस दौरान पता चला कि स्कूटी करीब 5 साल पहले बेच दी गई थी.

हादसे के बाद इस तरह आरोपियों तक पहुंची पुलिस

पुलिस ने जब कॉल पर घटना की सूचना देने वाले से बात की पता चला कि Car संख्या DLBCAY 6414 से हादसा हुआ है. पुलिस लड़की को लेकर एसजीएम हॉस्पिटल मंगोलपुरी पहुंची, जहां डॉक्टर ने उसे Brought Dead घोषित कर दिया.

इसके बाद पुलिस टीम कार के रजिस्टर्ड ऑनर लोकेश पुत्र सुरेश के यहां पहुंची. इस पर लोकेश ने पुलिस को बताया कि कार उसके जीजा आशुतोष पुत्र शंभू दयाल शर्मा के पास है.

यह भी पढ़ें… प्रधानमंत्री मोदी आएंगे रायपुर : CM भूपेश से बोले की “मिलेट कैफे” खोलिए… मैं देखने आऊंगा रायपुर , और ये भी बोले की…

इसके बाद पुलिस ने आशुतोष से बात की तो पता चला कि कार को उसका दोस्त दीपक खन्ना पुत्र राजेश खन्ना और अमित खन्ना पुत्र राज कुमार खन्ना 31 दिसंबर की शाम करीब 7 बजे लेकर गए थे. इसके बाद दीपक और अमित कार को सुबह करीब पांच बजे एक्सीडेंटल हालत में खड़ी कर चले गए.

सुल्तानपुरी रोड, जहां पर हुई घटना.

अमित और दीपक ने हादसे के बारे में बताया कि उन्होंने ड्रिंक कर रखी थी. दिल्ली के कृष्ण विहार इलाके में एक स्कूटी सवार लड़की का एक्सीडेंट कर दिया था. इसके बाद दे डरकर कंझावला की तरफ भाग गए. दीपक  ने पुलिस को बताया कि वह कार चला रहा था और मनोज पुत्र सुंदर लाल उसके साइड वाली सीट पर आगे बैठा था. वहीं पीछे की सीट पर मिथुन पुत्र शिवकुमार, कृष्ण पुत्र काशी नाथ और मनोज मित्तल और अमित बैठा था.

यह भी पढ़ें…’ छत्तीसगढ़ में मच गई खलबली : जब स्वास्थ्य मंत्री TS सिंहदेव का आया बड़ा बयान – बोले चुनाव से पहले अपने भविष्य पर करूंगा फैसला

आरोपियों को पता था- स्कूटी सवार लड़की का किया है एक्सीडेंट

आरोपियों ने बताया कि रास्ते में जब कृष्ण विहार में शनि बाजार रोड पर एक स्कूटी सवार लड़की का एक्सीडेंट कर दिया था, इससे लड़की गिर गई थी. इसके बाद वे डर की वजह से कंझावला की तरफ भाग गए थे.

उन्होंने कार कंझावला रोड पर Jonti village के पास रोकी. वहां जब कार के नीचे स्कूटी वाली लड़की दिखाई दी तो सभी लड़की को वहीं छोड़कर अपने दोस्त आशुतोष के यहां पहुंचे. वहां कार खड़ी करके सभी अपने-अपने घर चले गए.

लड़की को 4KM तक घसीटा ….हम नशे में थे, लड़की कार में फंसी थी…’ कंझावला कांड के दो आरोपियों का पुलिस के सामने कबूलनामा

⇒⇒⇒ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें FACEBOOK या TWITTER पर फॉलो करें. Thebharatexpress.com पर विस्तार से पढ़ें देश की अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button