छत्तीसगढ़ में बिजली हुई महंगी : कंपनियों ने बढ़ाया VCA चार्ज, 100 यूनिट पर देने होंगे इतने रुपये ज्यादा

Electricity becomes costlier in Chhattisgarh : Companies increase VCA charge, will have to pay so much more for 100 units

छत्तीसगढ़ के उपभोक्ताओं को सर्दी में बिजली का झटका लगा है। छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी ने गुरुवार को वीसीए (वैरिएबल कॉस्ट एडजेस्टमेंट) चार्ज 49 पैसा प्रति यूनिट बढ़ाने का फैसला किया है। इसके चलते अब यह बढ़कर 1.10 रुपये प्रति यूनिट हो गया है। पहले यह 61 पैसे था। चार माह में यह दूसरी बार है, जब कंपनी की ओर से वीसीए चार्ज बढ़ाया गया है। उपभोक्ताओं को अब 100 यूनिट पर 49 रुपये ज्यादा देने होंगे।

ALSO READ : छत्तीसगढ़ में मच गई खलबली : चुनाव नहीं लड़ेंगे मंत्री टीएस सिंहदेव ? बोले- इस बार मेरा वैसा नहीं है, देखिए VIDEO

CSPDCL को करना पड़ रहा है 459 करोड़ ज्यादा भुगतान

कंपनी की ओर से बताया गया है कि अगले माह से यह बढ़ोतरी की जा रही है। इसका कारण अगस्त और सितंबर के दौरान जो बिजली NTPC से खरीदी गई, उसमें विद्युत नियामक आयोग की ओर से अनुमोदित दर की तुलना में 459 करोड़ ज्यादा का भुगतान करना पड़ा है। जबकि बिजली कंपनी से क्रय की जाने वाली बिजली बिल की तुलना में 26 करोड़ रुपये की कमी आई है। इससे बिजली खरीदने में 549 करोड़ रुपये की वृद्धि हो गई है।

यह भी पढ़ें… बंद बंद बंद : सभी स्कूलों में अवकाश का ऐलान, श्मशान घाट पर लगी लंबी कतारें, पूरे शहर में ‘लॉकडाउन’

सितंबर में भी बढ़ाया था वीसीए चार्ज

इससे पहले दिसंबर, जनवरी में प्रति यूनिट 49 पैसे वृद्धि हुई थी। सितंबर 2022 में भी वीसीए चार्ज बढ़ाया गया था। सितंबर में 0.23 पैसे प्रति यूनिट बढ़ोतरी हुई। बिजली 4 महीने में 0.72 पैसे यूनिट महंगी हुई है। बताया जा रहा कि अगस्त और सितंबर में खरीदी गई बिजली महंगी मिली है। बिजली के लिए जो पैसे ज्यादा दिए गए हैं, उसे एडजस्ट करने के लिए ही वीसीए चार्ज में 0.49 रुपए प्रति यूनिट की वृद्धि की जा रही है।

यह भी पढ़ें… कैसी होगी राहुल गांधी की पत्नी ? पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया किस तरह की चाहिएं खूबियां , उसमें क्या-क्या गुण होने चाहिएं, जानें पूरी खबर

बिजली कंपनियां और अनुमोदित दर की तुलना में वृद्धि

  • नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन 459 करोड़ रुपये
  • एनटीपीसी-सेल पावर कॉरपोरशन 5.74 करोड़ रुपये
  • सीएसपीजीसीएल – (नवीकरणीय स्त्रोत) 18.79 करोड़ रुपये
  • सीएसपीजीसीएल-(तापीय स्त्रोत ) (-) 26.51 करोड़ रुपये
  • अन्य (बायोमॉस, सौर, लघु जल, नाभिकीय उर्जा संयंत्र आदि) 92 करोड़ रुपये
  • सकल वीसीए राशि 549.01 करोड़ रुपये

यह भी पढ़ें… Oops Moment…. बीच इवेंट में खुल गया इस एक्ट्रेस का ब्लाउज, भरी महफिल में होना पड़ा शर्मिंदा, वायरल हुआ Video

हर दो माह में होती है वीसीए की गणना

वीसीए की गणना प्रत्येक दो माह में की जाती है। अगस्त और सितंबर के दौरान वीसीए के कारण ड्रिस्ट्रीब्यूशन कंपनी को खरीदी गई बिजली पर विद्युत नियामक आयोग की ओर से अनुमोदित दर की तुलना में 549 करोड़ रुपये का ज्यादा भुगतान करना पड़ा है। इसमें प्रमुख हिस्सा एनटीपीसी का 459 करोड़ रुपये का है। छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत उत्पादन कंपनी के बिल में आयोग द्वारा अनुमोदित दर की तुलना में 26.51 करोड़ रुपये की कमी आई है।

छत्तीसगढ़ में बिजली हुई महंगी : कंपनियों ने बढ़ाया VCA चार्ज, 100 यूनिट पर देने होंगे इतने रुपये ज्यादा

Electricity becomes costlier in Chhattisgarh : Companies increase VCA charge, will have to pay so much more for 100 units

⇒⇒⇒ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें FACEBOOK या TWITTER पर फॉलो करें. Thebharatexpress.com पर विस्तार से पढ़ें देश की अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button