बंद बंद बंद : सभी स्कूलों में अवकाश का ऐलान, श्मशान घाट पर लगी लंबी कतारें, पूरे शहर में ‘लॉकडाउन’

Holiday declared in all schools, long queues at the crematorium, 'lockdown' in the whole city

Holiday declared in all schools, शिंघई। चीन में चारों ओर से कोरोना ने हाहाकार मचा के रखा है। लोग त्राहीमाम-त्राहीमाम कर रहे है। ऐसे में सरकार कई सख्त कदम उठा रही है। मानो ऐसा लगता है कि कोरोना ने एक बार फिर तांडव शुरू कर दिया है। जिसके चलते कोविड केसों में बढ़ोतरी को देखते हुए शंघाई की एजुकेशन अथॉरिटी ने सोमवार से स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया है। वहीं, चीन के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के चीफ वू ज़ुन्यो के मुताबिक कोविड के खतरे को अनदेखा नहीं किया जा सका। उन्होंने कहा कि चीन की 10% से 30% आबादी के संक्रमित होने की आशंका है। शंघाई चीनी जनवादी गणराज्य का सबसे बड़ा नगर है। यह देश के पूर्वी भाग में यांग्त्ज़े नदी के डेल्टा पर स्थित है। यह अर्थव्यवस्था और जनसंख्या दोनों ही दृष्टि से चीन का सबसे बड़ा नगर है।

शंघाई की एजुकेशन अथॉरिटी की ओर से कहा गया है कि स्टूडेंट्स को अब घर से ही पढ़ाई करनी होगी, क्योंकि कोविड के चलते सोमवार से स्कूलों को बंद किया जा रहा है। इसके साथ ही किंडरगार्टन भी बंद रहेंगे। दरअसल, चीन की सरकार ने भारी विरोध प्रदर्शनों के बाद जीरो कोविड पॉलिसी को खत्म कर दिया था। इसके बाद देश में कोरोना का विस्फोट हो गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकारी आदेश में कहा गया है कि कोविड के बढ़ते केसों को ध्यान में रखते हुए अब सभी को बेहद सावधानी बरतनी होगी। क्योंकि राजधानी बीजिंग में संक्रमण बढ़ गया है, जहां कोविड के केस अब बड़े पैमाने पर सामने आ रहे हैं। यहां कई परिवार कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं।

चीन के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के चीफ वू ज़ुन्यो के मुताबिक कोविड के खतरे को अनदेखा नहीं किया जा सका। उन्होंने कहा कि चीन की 10% से 30% आबादी के संक्रमित होने की आशंका है। उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में तीन अवसर ऐसे होंगे, जब कोविड का तेजी से प्रसार हो सकता है। इसमें क्रिसमस, न्यू ईयर और लूनर न्यू ईयर शामिल हैं।

long queues at the crematorium, ‘lockdown’ in the whole city

⇒⇒⇒ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें FACEBOOK या TWITTER पर फॉलो करें. Thebharatexpress.com पर विस्तार से पढ़ें देश की अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button