Rishabh Pant Accident : ‘मैं ऋषभ पंत हूं’ …जब खून से लथपथ, लंगड़ाते क्रिकेटर ने बस ड्राइवर से कहा, ऐसे बची जान

दिल्ली से रूड़की जाते समय भारतीय क्रिकेटर ऋषभ पंत की कार का एक्सीडेंट हो गया है. हादसे के बाद पंत विंड स्क्रीन तोड़कर बाहर निकले. इसके बाद कार में भीषण आग लग गई थी. मौके पर सबसे पहले पहुंचे बस ड्राइवर सुशील कुमार ने बताया कि कैसे उन्होंने पंत को संभाला और अस्पताल पहुंचाया...

Rishabh Pant Car Accident : भारतीय टीम के स्टार क्रिकेटर ऋषभ पंत कार एक्सीडेंट का शिकार हुए हैं. इस हादसे में वह बाल-बाल बच गए हैं. इस एक्सीडेंट के बाद सबसे पहले एक बस ड्राइवर सुशील कुमार पंत के पास पहुंचे थे. उन्होंने ही पंत को संभाला और एम्बुलेंस को बुलाकर पंत को अस्पताल भिजवाया. सुशील ने बताया कि पंत खून से लथपथ थे और उन्होंने ही बताया था कि वो क्रिकेटर ऋषभ पंत हैं.

भारतीय टीम के स्टार क्रिकेटर ऋषभ पंत कार एक्सीडेंट
भारतीय टीम के स्टार क्रिकेटर ऋषभ पंत कार एक्सीडेंट

बता दें कि ऋषभ पंत अपनी मर्सिडीज कार खुद चलाकर होम टाउन रूड़की जा रहे थे. इसी दौरान झपकी आई और उनकी कार डिवाइडर से टकराकर दुर्घटना ग्रस्त हो गई. पंत ने खुद बताया कि वह विंड स्क्रीन तोड़कर बाहर आए. इसके बाद कार में भीषण आग लग गई थी.

ALSO READ : दुखद खबर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन मोदी का निधन…. , PM मोदी ने अपनी मां की अर्थी को दिया कंधा, पढ़ें अपडेट्स

पंत के साथ अस्पताल में उनकी मां भी मौजूद हैं

ऋषभ पंत को देहरादून के मैक्स हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है, जहां उनकी मां भी साथ हैं. पंत को सिर और घुटने में गंभीर चोटें आईं हैं. उनका MRI भी कराया गया है. इसके अलावा पीठ और पैर के कुछ हिस्सों में भी चोटें आईं. पंत का यह एक्सीडेंट शुक्रवार सुबह करीब 5:30 बजे रूड़की के पास मोहम्मदपुर जाट एरिया में हुआ.

भारतीय टीम के स्टार क्रिकेटर ऋषभ पंत कार एक्सीडेंट
भारतीय टीम के स्टार क्रिकेटर ऋषभ पंत कार एक्सीडेंट

 

ALSO READ : PM Modi Mother Live : भावुक मन, आंखें नम… पंचतत्व में विलीन हुईं मां हीराबेन तो निहारते रहे PM मोदी

क्या बताया मौके पर मौजूद बस ड्राइवर ने?

सुशील कुमार ने आजतक से कहा, ‘मैं हरियाणा रोडवेज में ड्राइवर हूं. मैं हरिद्वार से आ रहा था. जैसे ही हम नारसन के पास पहुंचे 200 मीटर पहले. मैंने देखा दिल्ली की तरफ से कार आई और करीब 60-70 की स्पीड में डिवाइडर से टकरा गई. टकराने के बाद कार हरिद्वार वाली लाइन पर आ गई. मैंने देखा कि अब बस भी टकरा जाएगी. हम किसी को बचा ही नहीं सकेंगे. क्योंकि मेरे पास 50 मीटर का ही फासला था. मैंने तुरंत सर्विस लाइन से हटाकर गाड़ी फर्स्ट लाइन में डाल दी. वो गाड़ी सेंकड लाइन में निकल गई. मेरी गाड़ी 50-60 की स्पीड में थी. मैंने तुरंत ब्रेक लगाया और खिड़की साइड से कूदकर गया.’

ALSO READ : कार में कंकाल : कर्मचारी की हत्या कर कार सहित जलाया, पत्नी को छोड़कर घर लौट रहा था, पहुंच गया यहां….लावारिस हालत में मिली कार

पंत के शरीर पर कपड़े नहीं थे, सुशील ने चादर में लपेटा

बस ड्राइवर सुशील ने बताया, ‘मैंने देखा उस आदमी (ऋषभ पंत) को. वो जमीन पर पड़ा था. मुझे लगा वो बचेगा ही नहीं. कार में चिंगारियां निकल रही थीं. उसके पास ही वो (पंत) पड़ा था. हमने उसे उठाया और कार से दूर किया. मैंने उससे पूछा- कोई और है कार के अंदर. वो बोला मैं अकेला ही था. फिर उसी ने बताया कि मैं ऋषभ पंत हूं. मैं क्रिकेट के बारे में इतना जानता नहीं. उसे साइड में खड़ा किया. उसके शरीर पर कपड़े नहीं थे, तो हमने अपनी चादर में उसे लपेट दिया.’

भारतीय टीम के स्टार क्रिकेटर ऋषभ पंत कार एक्सीडेंट
भारतीय टीम के स्टार क्रिकेटर ऋषभ पंत कार एक्सीडेंट

बंद बंद बंद : राजधानी समेत कई जिलों में स्कूल बंद , प्रशासन ने जारी किया आदेश

Rishabh Pant Accident : ‘मैं ऋषभ पंत हूं’ …जब खून से लथपथ, लंगड़ाते क्रिकेटर ने बस ड्राइवर से कहा, ऐसे बची जान

⇒⇒⇒ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें FACEBOOK या TWITTER पर फॉलो करें. Thebharatexpress.com पर विस्तार से पढ़ें देश की अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button